आठ राज्यों की 19 राज्यसभा सीटों के लिए वोटिंग शुरू, वहीं, कमलनाथ के बंगले पर सुरक्षा बढ़ी!

0
234

देश के आठ राज्यों से राज्यसभा की 19 सीटों के लिए आज (शुक्रवार) चुनाव हो रहा है। गुजरात, मध्यप्रदेश और राजस्थान में भाजपा और कांग्रेस के बीच करीबी मुकाबला होने की संभावना है। यह वोट शाम 4 बजे तक चलेगी। शाम 5 बजे से वोटों की गिनती शुरू हो जाएगी।  कोरोना वायरस महामारी के कारण 18 सीटों पर चुनाव स्थगित कर दिया गया था। बाद में चुनाव आयोग ने कर्नाटक से चार सीटों और मिजोरम तथा अरूणाचल प्रदेश से एक-एक सीट के लिए चुनाव करवाने की घोषणा की। राज्यसभा की 19 सीटों में आंध्र प्रदेश और गुजरात से चार-चार, मध्यप्रदेश और राजस्थान से तीन-तीन, झारखंड से दो और मणिपुर, मिजोरम तथा मेघालय से एक-एक सीट पर चुनाव होगा ।

दस राज्यों की 24 राज्यसभा सीटों पर भी चुनाव होना था, लेकिन 2 राज्यों की 5 सीटों पर बिना विरोध कैंडिडेट चुन लिए गए। गुजरात की 4 में से 2 सीटों पर भाजपा और 1 पर कांग्रेस की जीत तय मानी जा रही है। 1 सीट पर पेंच फंसा है।

विधायकों के आंकड़ों के हिसाब से मध्यप्रदेश की 3 सीटों में से 2 पर भाजपा की जीत पक्की मानी जा रही है। एक सीट कांग्रेस के खाते में जा सकती है। राजस्थान में भी 3 सीटों पर चुनाव हैं। इनमें से 2 पर कांग्रेस और 1 पर भाजपा की जीत लगभग तय है। हालांकि, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्यसभा चुनाव के लिए वोट डाल चुके हैं।

बता दें कि, राज्यसभा चुनाव से एक दिन पहले यानी गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सिंह के बंगले पर वोटिंग को लेकर मॉक पोल हुआ। कांग्रेस को क्रॉस वोटिंग की आशंका है, इसलिए पार्टी के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह की जीत सुनिश्चित करने के लिए 52 की जगह 54 विधायकों को वोट डालने के निर्देश दिए गए। पार्टी की ओर से दावा किया गया कि सभी विधायक एकसाथ हैं। कहीं कोई चूक न हो जाए, इसलिए दो अतिरिक्त विधायकों को दिग्विजय को ही वोट करने को कहा है।

वहीं, कमलनाथ के बंगले पर सुबह से ही सुरक्षा बढ़ा दी गई थी। मुख्य गेट से सिर्फ पार्टी के विधायकों और सीनियर नेताओं को प्रवेश दिया गया। इसके अलावा किसी को भी अंदर नहीं जाने दिया गया। सिर्फ कुछ खास लोगों की गाड़ियां बंगले के अंदर तक जा सकीं। अन्य नेताओं को गाड़ी बाहर खड़ी करके पैदल ही अंदर जाना पड़ा।

चुनाव के पहले मॉक पोल कराया गया। इसके साथ अब राज्यसभा की दो सीटों पर भाजपा और एक पर कांग्रेस की जीत पक्की हो गई है। इधर, एक दिन पहले कांग्रेस की पार्टी मीटिंग से गायब रहने वाले 5 विधायक भी पहुंच गए, जबकि कुणाल चौधरी कोरोना संक्रमित होने के कारण नहीं आए। मॉक पोल के दौरान सीनियर नेताओं ने विधायकों को वोट करने के बारे में बताया। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुरेश पचौरी भी इसमें शामिल हुए। मॉल पोल में सीनियर नेताओं ने विधायकों को वोट करने के बारे में बताया। उन्हें क्या-क्या और कैसे करना है- इसे करके दिखाया गया। इसके बाद सभी नेता एक-एक कर वहां से वापस चले गए। 

कांग्रेस ने अपने दोनों उम्मीदवारों में से पहली वरीयता दिग्विजय सिंह को दी है। दूसरी वरीयता फूल सिंह बरैया की है। कांग्रेस के पास कुल विधायकों की संख्या 92 है। राज्यसभा की एक सीट को जीतने के लिए 52 वोटों की जरूरत होगी। पार्टी के 54 विधायकों के दिग्विजय को वोट देने के बाद शेष 38 विधायक बरैया को वोट करेंगे। जबकि भाजपा के 107 विधायक हैं। इसके अलावा, दो निर्दलीय, दो बसपा और एक सपा का भी समर्थन है। यानी विधायकों की संख्या 114 हो जाएगी।

गुजरात की 4 सीटें : तीन पर स्थिति साफ, एक पर पेंच फंसा

भाजपा
विधायक: 103
राज्यसभा की एक सीट जीतने के लिए जरूरी वोट: 35
इस तरह 2 सीटों पर जीत लगभग तय, तीसरी सीट जीतने के लिए 2 वोट कम

कांग्रेस
विधायक: 65
समर्थन: 3
कुल: 68
राज्यसभा की एक सीट जीतने के लिए जरूरी वोट: 35
इस तरह 1 सीट पर जीत पक्की मानी जा रही, 2 सीटें जीतने के लिए 2 वोट कम

उम्मीदवारभाजपाकांग्रेस
पहलाअभय भारद्वाजशक्ति सिंह गोहिल
दूसरारामिलाबेन बाराभरत सिंह सोलंकी
तीसरानरहरि अमीन

मध्य प्रदेश की 3 सीटों का गणित
भाजपा
विधायक: 107
समर्थन: 5 (2 निर्दलीय+2 बसपा+1 सपा )
कुल: 112
राज्यसभा की एक सीट जीतने के लिए जरूरी वोट: 52
इस तरह 2 सीटों पर जीत तय

कांग्रेस
विधायक : 92
राज्यसभा की एक सीट जीतने के लिए जरूरी वोट: 52
इस तरह 1 सीट पर जीत तय

दोनों दलों ने 2-2 सीटों पर कैंडिडेट उतारे हैं।

उम्मीदवारभाजपाकांग्रेस
पहलाज्योतिरादित्य सिंधियादिग्विजय सिंह
दूसरासुमेर सिंह सोलंकीफूलसिंह बरैया

राजस्थान की 3 सीटों का गणित

कांग्रेस
विधायक: 107
समर्थन: 18
कुल: 125
राज्यसभा की एक सीट जीतने के लिए जरूरी वोट:  51
इस तरह 2 सीटों पर जीत तय

भाजपा
विधायक: 72  
समर्थन: 3
कुल: 75
राज्यसभा की एक सीट जीतने के लिए जरूरी वोट:  51
इस तरह एक सीट पर जीत पक्की

उम्मीदवारभाजपाकांग्रेस
पहलाराजेंद्र सिंह गहलोतके सी वेणुगोपाल
दूसराओंकार सिंह लखावतनीरज डांगी

झारखंड की 2 सीटों का गणित

झारखंड मुक्ति मोर्चा
विधायक : 29
राज्यसभा की एक सीट जीतने के लिए जरूरी वोट: 27
इस तरह एक सीट पर जीत तय

भाजपा
विधायक : 25
राज्यसभा की एक सीट जीतने के लिए जरूरी वोट: 27
इस तरह एक सीट पर जीत तय

कांग्रेस

विधायक : 15
एक कैंडिडेट उतारा है, लेकिन जीत के जरूरी वोट नहीं।

पार्टीझारखंड मुक्ति मोर्चाभाजपाकांग्रेस
उम्मीदवारशिबू सोरेनदीपक प्रकाशशहजादा अनवर

मणिपुर में सत्तारूढ़ गठबंधन के नौ सदस्यों के इस्तीफे के कारण वहां भी चुनाव रोचक होने की संभावना है। भाजपा ने लीसेम्बा सानाजाओबा को तथा कांग्रेस ने टी मंगी बाबू को उम्मीदवार बनाया है। कर्नाटक में चार सीटों पर पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, भाजपा उम्मीदवार इरन्ना कडाडी और अशोक गस्ती को पहले ही निर्विरोध विजेता घोषित किया जा चुका है।

अरुणाचल प्रदेश से भी राज्यसभा की इकलौती सीट से भाजपा उम्मीदवार नबाम रेबिया की निर्विरोध जीत घोषित की जा चुकी है। चुनाव आयोग ने कहा है कि 19 जून की शाम में ही सभी 19 सीटों के लिए मतगणना होगी। कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर चुनाव आयोग ने मतदान के लिए समुचित प्रबंध किए हैं। प्रत्येक मतदाता (विधायक) के शरीर के तापमान की जांच की जाएगी और सामाजिक दूरी के नियमों का पालन किया जाएगा।

 गुजरात में मुकाबला रोचक होने की संभावना है क्योंकि सत्तारूढ़ भाजपा और कांग्रेस दोनों में किसी के पास भी अपनी बदौलत अपने उम्मीदवारों को जिताने के लिए विधानसभा में पर्याप्त संख्या नहीं है। राजस्थान में सत्तारूढ़ कांग्रेस और विपक्षी भाजपा ने एक दूसरे पर विधायकों को प्रलोभन देने का आरोप लगाते हुए अपने-अपने विधायकों को अलग-अलग होटलों में रखा है।

आंध्रप्रदेश से राज्यसभा के लिए चार सदस्यों का चुनाव होगा। राज्य विधानसभा में पर्याप्त संख्या रहने के कारण सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस के चारों सीटों पर जीत हासिल करने के आसार हैं। वर्ष 2014 में राज्य के बंटवारे के बाद पहली बार यहां राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here