इंदिरा जिनसे करती थी नफरत, मेनका गांधी के साथी रहे अमर अकबर डंपी ने अब क्या कर दिया

0
15

अमर अकबर डंपी बहुत पुराने खिलाड़ी हैं और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बेटे संजय गांधी के बचपन के दोस्त भी रहे हैं।

संजय गांधी के निधन के बाद डंपी ने उनकी पत्नी मेनका गांधी का साथ दिया और जब मेनका ने गांधी परिवार को छोड़ा और अलग पार्टी संजय विचार मंच बनाया तो डंपी ने उनका पूरा साथ दिया। इंदिरा गांधी मेनका के इस कदम से काफी नाराज थी और डंपी उनकी आंखों की किरकिरी थे।

आज डंपी की चर्चा इसलिए हो रही है क्योंकि बीजेपी नेता शाजिया इलमी ने उनके खिलाफ एफ आई आर दर्ज करवा कर उनके साथ बदसलूकी करने का आरोप लगाया है। शाजिया का आरोप है कि वसंत कुंज की एक डिनर पार्टी के दौरान डिंपी ने उनके साथ गाली गलौज की और दुर्व्यवहार भी किया। एक अखबार से बात करते हुए शाजिया ने कहा कि डंपी पहले बीजेपी और प्रधानमंत्री के बारे में अपशब्द बोल रहे थे, उसके बाद उन्होंने मेरे साथ भी बदसलूकी की और हिंदी में गालियां दी। शाजिया वसंत कुंज में सिगार बैरन चेतन सेठ कि डिनर पार्टी में गई थी। साजिया के मुताबिक डिंपी को चेतन सेठ और उनके परिवार वालों ने कई बार रोकने की कोशिश की लेकिन वह तब भी उसे जलील करते रहे। शाजिया ने कहा कि मैं एक मिसाल पेश करना चाहती हूं लोगों को इस से डरना नहीं चाहिए। डंपी भाजपा से दो बार सांसद रह चुके हैं और अपनी लग्जरी लाइफ के लिए मशहूर हैं। पिछले साल मार्च के महीने में जब बेबी डॉल के नाम से मशहूर बॉलीवुड गायिका कनिका कपूर के कोरोना वायरस से पीड़ित होने के बावजूद एक पार्टी में शिरकत करने से हंगामा मच गया था, तब यह पार्टी डंपी ने आयोजित की थी इसमें यूपी से सरकार समेत तमाम पार्टियों के बड़े नेता और अफसर मौजूद थे। भाजपा से राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और उनके बेटे दुष्यंत सिंह भी मौजूद थे। कोनिका को कोरोना था और उस पार्टी में ज्यादातर लोग उनसे हाथ मिला रहे थे।