एसएसबी के नायक और उनके अधिकारियों का धन्यवाद किया, साथ ही सभी राज्यवासियों से पिछली यात्रा नहीं छुपाने कि अपील की : प्रमोद कुमार

0
530

बिहार के कला संस्कृति और युवा विभाग मंत्री प्रमोद कुमार मीडिया के माध्यम से एसएसबी के नायक और उनके अधिकारियों का धन्यवाद करते हुए कहा कि
जिस तरह भारत के पड़ोसी देश नेपाल के सरगना की साजिस पूर्वी एवं पश्चिमी चंपारण जिले के माध्यम से पूरे राज्य एवं देश में वैश्विक महामारी कोरोना के फैलाव की खुलासा हमारे एसएसबी के नायक एवं इनके अधिकारियों ने किया है, इसके लिए इन्हें तहे दिल से धन्यवाद है। इसी के साथ उन्होंने समस्त जिला एवं राज्य वासियों से अपील किया कि बिहार में कोरोना वायरस के बढ़ते खतरा जिसमें सिवान में सर्वाधिक एक समुदाय वो परिवार की सतर्कता नहीं बरतने के कारण पूरा जिला के साथ सीमावर्ती जिलों का भी शील करना जरूरी हो गया है क्योंकि हर उस व्यक्ति की तलाश की जाए जो हाल के दिनों में विदेश या फिर देश के किसी हिस्से से यात्रा करके बिहार के अपने गांव लौटे हैं। ऐसे लोगों को कोई भी अपनी पिछली यात्रा वृत नहीं छुपाना चाहिए। यदि वे ऐसा नहीं करते हैं, तो अपने साथ सयोंग के परिवार और समाज को खतरे में डालने के लिए जिम्मेदार होंगे। अभी वर्तमान में कोरोना संक्रमित जो भी मरीज मिले हैं उनमें सर्वाधिक ऐसे लोग हैं, जिन्होंने बिहार से बाहर यात्रा की है और वे उसकी जानकारी देने से कतरा रहे हैं। ऐसे लोगों के बारे जब जानकारी प्राप्त होती है तब तक वैसे पूरी तरह कोरोना वायरस की चपेट में आ जाते है।

प्रमोद कुमार ने कहा कि राज्य को विभिन्न शहरों से लेकर गांव तक छिपे ऐसे लोग यदि स्वयं अपनी जानकारी नहीं देते हैं। तो उनके आसपास रहने वाले स्थानीय लोगों से मेरी खास अपील और निवेदन है कि स्थानीय लोग अपने दायित्व के साथ आगे आएं। ऐसा स्थानीय जनप्रतिनिधि समाज के विभिन्न वर्ग के समाजसेवियों से पुनः अपील करता हूं कि ऐसा होने पर कोई संदिग्ध कोरोना मरीज छिपने में समर्थ नहीं होंगे।
उन्होंने कहा बिहार सरकार अपने अस्तर से निरंतर ऐसे लोगों का विवरण जुटा रही है, लेकिन इसमें देर होने और शत प्रतिशत लोगों का पता नहीं चलना बहुत बड़ा कोरोना का संकट बढ़ने का कारण हो रहा है। यही कारण है कि राज्य में कोरोना मरीज पॉजिटिव की संख्या बढ़ रही है।

उन्होंने बताया कि जो व्यक्ति लॉकडाउन का उल्लघंन करते है, सरकार उन पर कड़ी करवाई करेगी और इसे दंडि अपराध घोषित करते हुए 6 महीने से 2 साल तक की जेल और ₹1000 जुर्माना का प्रावधान किया है।

उन्होंने कहा कि कोरोना के बढ़ते संकट को देखते हुए, राज्य के समस्त जनप्रतिनिधि, समाजसेवी, एवं विभिन्न राजनीतिक दल के कार्यकर्ताओं से पुनः अपील करना चाहेंगे कि वे सजा या जुर्माना के लिए कोई मौका ही ना दें।

विश्व भर में फैली इस महामारी से निपटने के लिए हर देश लॉकडाउन का तरीका अपना रहा है इसलिए हर व्यक्ति को समझना चाहिए कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए अभी यहीं सर्वाधिक उपयुक्त और सुरक्षित तरीका हैं, इसका अनुपालन कर प्रशासन का सहयोग करेंगे। कोरोना हारेगा और भारत जीतेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here