कई राज्यों में गर्मी इस बार सामान्य से होगी कहीं अधिक

0
140

जब देश के कई हिस्सों में पहले से ही गर्म हवाओं का अनुभव होने लगा है तब भारतीय मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि देश के ज्यादातर हिस्सों में अप्रैल से जून के बीच में अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक रहेगा।

राष्ट्रीय मौसम भविष्यवाणी केंद्र के प्रमुख के सती देवी ने कहा कि आमतौर अभी हम देश के बड़े हिस्से पूर्व केंद्र और उत्तर पश्चिम भारत में मार्च के महीने में ही गर्म हवाओं का अनुभव कर चुके हैं।

पिछले 10 साल में अप्रैल के महीने में ही गर्म हवाएं चलती हैं। लेकिन इस बार मार्च के महीने में ही उच्च तापमान देखने को मिला है।

2 से 3 दिन में स्थिति कुछ ठीक होगी। पश्चिमी की ओर से मजबूत हवाओं की वजह से अगले दो से 3 दिन गर्मी से राहत मिल सकती है बुधवार का दिन भी थोड़ा खुशनुमा था अधिकतम तापमान 37. 9 डिग्री सेल्सियस और जो कि सामान्य से ऊपर था लेकिन सोमवार को अधिकतम तापमान 40. 1 तक पहुंच चुका था जो 70 साल में सबसे ज्यादा था।

मौसम विभाग का कहना है कि तापमान में 0.7 डिग्री से लेकर 0.6 डिग्री सेल्सियस तक ज्यादा वृद्धि हो सकती है और यह तापमान की अधिकता ज्यादा हिस्सों में अप्रैल से जून के बीच में देखने को मिल सकती है।

बुधवार को देश के ज्यादातर हिस्से उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में गर्म हवाओं का प्रकोप जारी रहा।

पश्चिमी राजस्थान की कई पॉकेट्स में इसका असर काफी ज्यादा था हालांकि आईएमडी का अनुमान है कि अगले कुछ दिनों में न्यूनतम तापमान में दो से 4 डिग्री की गिरावट आएगी लेकिन मौसम विभाग इस बात से इंकार नहीं कर रहा है कि इस बार गर्मी बहुत जल्दी आ गई है और देश का अधिकतर हिस्सा लू की चपेट में आ गया है।