किसानों और सरकार की टक्कर में आम आदमी परेशान ऑफिस जाने में दिक्कत और घर में भी नहीं कर सकता काम इंटरनेट बंद, ऑनलाइन क्लास में परेशानी

0
82

26 जनवरी के दिन किसान आंदोलन के दौरान हिंसा सामने आने के बाद सबसे ज्यादा परेशानी आम आदमी की हो गई है। छुट्टी के बाद जब बुधवार को दफ्तर खुल गए तो लोग ऑफिस जाने के लिए घर से निकले तो उन्हें दिल्ली पुलिस के भारी-भरकम इंतजाम का सामना करना पड़ा और ऑफिस जाने में बहुत ज्यादा परेशानी हुई।

जगह जगह पर ट्रैफिक जाम था कई सड़कें बंद थी और मेट्रो स्टेशन पर भी भारी भीड़ देखी गई। सिर्फ घर से निकल कर बाहर दफ्तर जाने वाले ही नहीं बल्कि घर के अंदर भी बैठकर काम करने वालों को बहुत ज्यादा परेशानी हुई क्योंकि सरकार ने 26 जनवरी को हिंसक होने के बाद इंटरनेट बंद कर रखे हैं। अगर घर में वाईफाई की सुविधा नहीं हो तो दिल्ली एनसीआर में इंटरनेट बंद है जिससे work-from-home और स्कूलों की ऑनलाइन क्लास से भी नहीं चल पा रही हैं कुल मिलाकर पिछले 2 महीने से जब से यह किसान आंदोलन शुरू हुआ है तब से सरकार इस पर ध्यान नहीं दे रही है और इसका सीधा नुकसान मध्यमवर्ग को उठाना पड़ रहा है।

दिल्ली गाजियाबाद और नोएडा के लोगों को ऑफिस जाने के लिए बहुत परेशानी उठानी पड़ती है उनको दिल्ली जाने के लिए लंबे रास्ते अपनाने पड़ते हैं। बुधवार को भी ज्यादातर रास्ते बंद थे श्री आनंद विहार का रास्ता दिल्ली जाने के लिए खुला था जिस पर बहुत भयंकर जाम था एनएच 24 पर तो पहले से ही किसान धरना देकर बैठे हुए हैं ऐसे में सवाल उठता है कि या आंदोलन कब तक चलेगा और सरकार क्यों नहीं इसका हल निकाल रही है और इसका सीधा नुकसान क्यों मध्यम वर्ग और आम जनता नौकरी पैसे वाले लोगों को उठाना पड़ रहा है।