कोरोनावायरस के संक्रमण से बचने के लिए दिल्ली सरकार ने लगाई 31 मार्च तक सभी रेस्टोरेंट पर रोक!

0
271

सभी प्राइवेट कर्मचारी घर से ही काम करें

कोरोना वायरस संक्रमण के चलते दिल्ली सरकार ने कई बड़े फैसले किए हैं. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ऐलान किया कि दिल्ली में अब किसी भी स्थान पर 20 से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकते हैं. पूर्व में किसी धार्मिक, राजनीतिक या सामाजिक समेत अन्य आयोजनों में 50 से अधिक लोगों की भीड़ एकत्र होने पर रोक थी, लेकिन अब ऐसे आयोजनों में 20 से अधिक लोगों की भीड़ एकत्र होने की अनुमति नहीं दी जाएगी। जिन लोगों को क्वारेंटाइन किया जा रहा है, उनके हाथ पर अब स्टैंपिंग भी की जा रही है, ताकि वे सार्वजनिक स्थान पर जाने से रोका जा सके। ऐसे लोग सरकार के निर्दे शों का पालन नहीं करते हैं, तो उन्हें गिरफ्तार भी किया जा सकता है और उन पर एफआईआर भी दर्ज की जा सकती है। केजरीवाल ने कहा कि घबराएं नहीं, बल्कि ऐहतियात बरतें।
इसके साथ ही दिल्ली सरकार ने आज से रेस्टोरेंट में बैठकर खाना खाने पर भी पाबंदी लगा दी है. सीएम ने कहा कि दिल्ली में होम कोरंटाइन लागू किया जाएगा. सभी प्राइवेट कर्मचारी घर से ही काम करें. गैर जरूरी सरकारी सेवा बंद करने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शुक्रवार को ऐलान करेंगे. दिल्ली में सभी स्कूल 31 मार्च तक पूरी तरह बंद रहेंगे. कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे की वजह से फैसला लिया गया है. सभी स्कूलों में प्रिंसिपल, टीचर्स और नॉन टीचिंग स्टाफ को छुट्टी दी गई है.

अभी तक दिल्ली में कुल 10 मरीज पाए गए हैं। इसमें से एक की मौत हो गई है। दो मरीज ठीक होकर घर चले गए हैं। उनमें से एक मरीज सिंगापुर चले गए हैं और दिल्ली के 6 मरीजों का इलाज चल रहा है। यह लोग भी अब ठीक हो रहे हैं। केजरीवाल ने कहा क्वारेंटाइन करने के लिए कुल 768 बेड की क्षमता है। उनमें से अभी तक 57 बेड इस्तेमाल हुए हैं। अभी 711 बेड खाली है। हमारे पास कुल 550 आइसोलेशन बेड हैं, जहां मरीज को भर्ती कर इलाज किया जा सकता है। केंद्र सरकार के अस्पतालों में 95 बेड हैं। 550 बेड में से सिर्फ 40 का इस्तेमाल हो रहा है। इसमें वह लोग हैं, जो संदिग्ध मिले हैं। उनको आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। केंद्र सरकार के 95 बेड में से 67 इस्तेमाल हो रहे हैं।

केजरीवाल ने कहा कि जिन लोगों को एयरपोर्ट पर क्वारेंटाइन किया जा रहा है, उनसे घर पर भी क्वारेंटाइन करने के लिए कहा जा रहा है। उन्हें अलग कमरे में रहने के लिए कहा जा रहा है। उनके उपर स्टैंपिंग की जा रही है। क्योंकि कई मामले सामने आए हैं कि वो लोग भाग जा रहे हैं और क्वारेंटाइन नहीं कर रहे हैं। इसलिए उनके हाथ में स्टैंप लगाई जा रही है, ताकि सार्वजनिक स्थान पर स्टैंप लगा व्यक्ति दिखाई दे, तो उसे तुरंत घर जाने के लिए कहा जाए। ऐसे लोगों से हम कहना चाहते हैं कि आप दूसरों को भी बीमारी फैला सकते हैं। आपको क्वारेंटाइन करने के लिए कहा जा रहा है, तो आप करते रहिए। यह बहुत ही खतरनाक बीमारी है। जिससे सारी दुनिया परेशान है। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं, तो सरकार के पास कोई विकल्प नहीं बचेगा और हमें सख्त कदम उठाने पड़ेगे। संभव है कि आपको गिरफ्तार करना पड़े और आपके खिलाफ एफआईआर दर्ज करनी पड़े।

सुबह 10 से शाम 6 बजे तक प्रतिदिन प्राइवेट वाहनों का भी डिस-इन्फेक्शन किया जाएगा

केजरीवाल ने कहा कि परिवहन विभाग के सभी बसों को प्रतिदिन डिस-इन्फेक्ट कर रहे हैं। सभी आईएसबीटी और मेट्रो को डिस-इन्फेक्ट कर रहे हैं। सभी बस डिपो में चाहे वह डीटीसी हो या क्लस्टर के हों, उनको सुबह 10 से 12 और शाम को 4ः30 से 6ः30 बजे तक कीटाणु रहित किया जा रहा है। निजी सार्वजनिक वाहनों आॅटो, टैक्सी, ग्रामीण सेवा आदि को भी डिस-इन्फेक्शन किया जा रहा था, जिसकी वजह से वाहनों की लंबी-लंबी लाइनें लगनी शुरू हो गई थी। इसलिए आज यह फैसला लिया गया है कि सुबह 10 से शाम 6 बजे तक प्रतिदिन प्राइवेट वाहनों का भी डिस-इन्फेक्शन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर किसी डिपो पर ज्यादा भीड़ लगेगी, तो वहां पर मैन पाॅवर बढ़ा दी जाएगी।

वरिष्ठ नागरिकों से अपील कि संभव हो तो वे थोड़े दिनों तक अपने घर में ही रहें, बाहर न निकलें

केजरीवाल ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में देखने को आया है कि हमारे यहां जो लंबी दूरी वाली बसें आती थी, उनमें बहुत कमी आई हैं। जम्मू-कश्मीर ने पूरी तरह बंद कर दिया है। नेपाल ने भी बंद कर दिया है। ज्यादा से ज्यादा घर में रहें और जो भी काम हैं, वह घर से करने की कोशिश करें। निजी क्षेत्र के सभी कंपनी व संस्थानों से हमारी अपील है कि आप अपने कर्मचारी को घर से काम करने का विकल्प दीजिए, ताकि वह दफ्तर न आएं और भीड़ न हो। दुनिया भर से जो मामले आ रहे हैं, उसमें वरिष्ठ नागरिक सबसे अधिक प्रभावित हैं। वरिष्ठ नागरिक सुबह टहलने निकलते हैं और लोगों से मिलते हैं। इसलिए वरिष्ठ नागरिकों से हमारी अपील है कि संभव हो तो वे थोड़े दिनों तक अपने घर में ही रहें, बाहर न निकलें। सबसे ज्यादा ऐहतियात वरिष्ठ नागरिकों को ही बरतने की जरूरत है।

सभी गैर आवश्यक सेवाएं शुक्रवार से बंद
केजरीवाल ने कहा कि जो भी आवश्यक सेवाए हैं उनकों अनुमति दी जाएगी और गैर सार्वजनिक सेवाओं को शुक्रवार से बंद कर दिया जाएगा। दिल्ली सरकार के सभी अस्पतालों को वेल्टीलेटर, मशीनों को सक्रीय स्थिति में रखने के लिए निर्देश दिए जा रहे हैं। हम सभी प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों की मैपिंग करा रहे हैं कि कहां क्या-क्या सुविधाएं हैं, जिसे जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल कर सकें।