जम्मू कश्मीर में सुरक्षाकर्मियों के शोपियां और अवंतिपोरा में बड़ी कामयाबी, एनकाउंटर में मार गिराए 8 आतंकी!

0
201

आतंकियों के खिलाफ जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाकर्मियों का ऑपरेशन ऑउट जारी है और उन्हें लगातार सफलता भी मिल रही है। इसी कड़ी में सुरक्षाकर्मियों को जम्मू-कश्मीर के शोपियां और अवंतिपोरा में बड़ी कामयाबी मिली है। जम्मू कश्मीर में सुरक्षा बलों की बड़ी कार्रवाई करते हुए पिछले 24 घंटे में अलग-अलग एनकाउंटर में मार गिराए 8 आतंकवादीयों को मार गिराया है। इनमें शोपियां में 5 आतंकी मारे गए हैं। वहीं 3 आतंकी पंपोर में मारा गया है। दोनों ही इलाकों में पहले से ही सर्च ऑपरेशन चल रहे थे। जवानों की मुस्तैदी के चलते सुरक्षाबलों को शुक्रवार सुबह आतंकियों को मार गिराने में कामयाबी मिली है।
बता दें कि जम्मू कश्मीर के पंपोर में आतंकियों से चल रही मुठभेड़ 24 घंटे बाद खत्म हो गई है। आज सुबह सुरक्षाबलों ने कल से मस्जिद में छिपे 2 और आतंकियों को ढेर कर दिया। पंपोर के मीज इलाके में कल सुबह यह मुठभेड़ शुरू हुई थी। कल ही सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को ढेर कर दिया था।
सुत्रों के मुताबिक, अवंतिपोरा जिले के पंपोर इलाके में गुरुवार को तीन आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। इसके बाद तत्काल जवानों ने सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया। रात 2 बजे से चल रहे एनकाउंटर में गुरुवार को सुरक्षाबलों को पहली सफलता मिली, जब पंपोर के मीज इलाके में उन्होंने एक आतंकवादी को मार गिराया। इस दौरान दो आतंकवादी पास के एक मस्जिद में जाकर छिप गए। इसके साथ ही मीज में छिपे सभी आतंकी ढेर हो चुके हैं। फिलहाल इलाके में तलाशी अभियान शुरू किया गया है।
सुरक्षाबलों ने इसके बाद भी ऑपरेशन जारी रखा। रातभर चले संघर्ष के बाद शुक्रवार सुबह जवानों ने मस्जिद में छिपे दोनों आतंकवादियों को मार गिराया। जानकारी के मुताबिक, आतंकवादी स्थानीय जामिया मस्जिद में छिपे हुए थे। ऑपरेशन पार्टी ने दोनों आतंकवादियों को न्यूट्रलाइज कर दिया है। इसके अलावा शोपियां के मुनंद में भी सुरक्षाबलों ने एक आतंकवादी को ढेर कर दिया। इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है। यहां और आतंकवादियों के छिपे होने की आशंका है।
आधिकारिक आकलन के अनुसार इस साल केन्द्र शासित प्रदेश में 100 से अधिक आतंकवादी मारे गए हैं, जिनमें विभिन्न संगठनों के 10 से अधिक शीर्ष कमांडर भी शामिल हैं। सुत्रों के मुताबिक, अप्रैल में कम से कम 28 आतंकवादी मारे गए हैं जबकि पिछले पखवाड़े में 22 आतंकवादी मारे गए हैं। वहीं, जनवरी और मई में 18-18 और फरवरी और मार्च में सात-सात आतंकवादी मारे गए।
आतंकियों के लिए सुरक्षित पनाहगार बन चुका पाकिस्तान भारत के खिलाफ आतंकी साजिश रचने से बाच नहीं आ रहा है। पाकिस्तान के इशारे पर जम्मू-कश्मीर में आतंकी लगातार नापाक मंसूबों को अंजाम देने की ताक में जुटे हैं। लेकिन भारतीय सुरक्षाकर्मिंयों की मुश्तैदी की वजह से उनकी एक भी नहीं चल रही है और वो लगातार मारे जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here