बहरूपिया कोरोना क्या रूप बदल कर, आगरा को बना देगा वुहान? आखिर कब पीछा छुटेगा!

0
439

चीन के वुहान शहर की देन पूरे विश्व में कोहराम मचाने वाला कोरोनावायरस भारत में भयानक रूप ले लिया है. भारत में कोरोना वायरस के नए मामलो में की रफ्तार बहुत तादाद में बढ़ती ही जा रही है। देशभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 30 हजार के करीब पहुंच गई है। पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 1543 नए मामले सामने आए हैं, वहीं 62 लोगों की मौत हो गई है। मंगलवार को जारी स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 29435 हो गई है। वहीं, इस खतरनाक कोविड-19 महामारी से मरने वालों का आंकड़ा 934 पहुंच गया है। कोरोना वायरस के कुल 29435 मामलों में से 21632 एक्टिव केस हैं। इसके अलावा, 6869 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं या फिर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। कोरोना वायरस से सर्वाधिक 369 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई। यहां अब इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 10241 हो गई है। हालांकि सरकार कह रही है कि नए कोरोना मामलों की डेली ग्रोथ रेट गिरकर 6 पर्सेंट हो गई है। मरीजों के संक्रमण मुक्त होने की दर 20 प्रतिशत से अधिक है।
महाराष्ट्र: महाराष्ट्र में सबसे अधिक कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के कुल 10241 पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। कोरोना के इन कुल केसों में से 8590 केस एक्टिव हैं और 1282 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें छुट्टी दे दी गई है। इस राज्य में अब तक सबसे अधिक 369 लोगों की जान जा चुकी है।
गुजरात: महाराष्ट्र के बाद सबसे ज्यादा गुजरात प्रभावित दिख रहा है। गुजरात में कोरोना वायरस के अब तक 4104 मामले सामने आ चुके हैं। गुजरात में कोरोना से 162 लोगों की मौत हो चुकी है और 394 लोग या तो स्वस्थ हो चुके हैं या फिर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।
दिल्ली: दिल्ली में भी कोरोना के संक्रमण का मामला बढ़ रहा है। राजधानी में कोरोना वायरस के अब तक 4039 मामलों में 3108 एक्टिव केस हैं। कोविड-19 महामारी से जहां 54 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 877 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं।
तमिलनाडु: तमिलनाडु में भी कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 3062 हो गई है। इनमें से से 1937 केस एक्टिव हैं। यहां इस महामारी से 24 की मौत भी हो चुकी है और 1101 पूरी तरह से ठीक भी हो चुके हैं।
मध्य प्रदेश: मध्य प्रदेश भी कोरोना वायरस का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। यहां कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़कर 2580 हो गई है, जिनमें से 110 लोगों की मौत भी हो चुकी है। इसके अलावा, 302 लोग ठीक हो चुके हैं।

बिहार: कोरोना वायरस के बिहार में अब तक 404 मामले दर्ज किए गए हैं। हालांकि, बिहार में कोरोना वायरस से दो लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 57 लोग ठीक हो चुके हैं. वहीं, बिहार में अब 22 जिले कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। मुंगेर में 68, नालंदा में 34, पटना में 33, सीवान में 30, लखीसराय में 01, भोजपुर- 02, भागलपुर- 05, नवादा- 03, बेगूसराय में 09, सारण में 03, कैमूर में 14, बक्सर में 25, वैशाली में 02, औरंगाबाद में 02, मधेपुरा में 01, गोपालगंज में 12,रोहतास में 15, पू. चंपारण में 05, बांका में 02, गया में 06, अरवल में 04, जहानाबाद में 01 है. हालांकि बिहार में भी कोरोना को लेकर चिंता का विषय बन गया है.
उत्तर प्रदेश: यूपी में कोरोना वायरस के 2321 केस आ चुके हैं। हालांकि, इनमें से 335 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं और 31 लोगों की मौत हो चुकी है।
उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से सबसे अधिक मौत और मरीजों की संख्या आगरा में है। यहां कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण को रोकने के लिए बनाए गए मॉडल की देशभर में चर्चा हुई, बावजूद इसके यहां संक्रमण कम होने का नाम ही नहीं ले रहा। हालात यह है कि यहां मरने वालों की संख्या में भी इजाफा होता जा रहा है। अकेले आगरा में ही आगरा में अब तक 373 मरीज कोरोना वायरस संक्रमित पाए गए हैं जबकि 11 लोगों ने इस बीमारी से दम तोड़ा है। आगरा कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित जिलों में शीर्ष पर है. इस बीच अब आगरा में बिगड़ते हालात को लेकर मेयर की ओर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखा गया पत्र सामने आया है. सीएम योगी को 21 अप्रैल को पत्र लिखकर मेयर नवीन जैन ने जिले की हालत चिंता को लेकर जताई थी. मेयर ने तब यह भी कहा था कि उचित प्रबंधन नहीं हुआ तो आगरा भारत का वुहान बन सकता है.
इन दिनों सोशल मीडिया पर खुब वायरल हो रहे इस पत्र में उन्होंने लिखा है, ‘मैं बहुत दुखी मन से आप को पत्र लिख रहा हूं कि मेरा आगरा अत्यधिक संकट के दौर से गुजर रहा है. आगरा को बचाने के लिए कड़े निर्णय लेने की आवश्यकता है. स्थिति अत्यधिक गंभीर हो चुकी है. इसलिए मैं आपसे हाथ जोड़कर प्रार्थना कर रहा हूं कि मेरे आगरा को बचा लीजिए, बचा लीजिये.’ पत्र में मेयर ने आगे लिखा है, ‘आगरा, देश का वुहान बन सकता है. स्थानीय प्रशासन नाकारा साबित हुआ है. उन्होंने स्थिति को नियंत्रित करने में स्थानीय प्रशासन को नाकाम बताते हुए कहा है कि क्वारनटीन सेंटरों में कई-कई दिन तक मरीजों की जांच नहीं हो पा रही. क्वारनटीन सेंटरों पर भोजन-पानी का उचित प्रबंध भी नहीं है. स्थिति विस्फोटक है.’ इतना ही नहीं सरकारी अस्पतालों में कोरोना मरीजों को छोड़कर किसी अन्य मरीज का इलाज भी नहीं किया जा रहा है।
इस पत्र में मेयर ने शहर में कोरोना के बिगड़ते हालात और आम जनमानस को होने वाली परेशानी के लिए सीधे-सीधे जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को जिम्मेदार भी ठहराया है. यहां यह जिक्र करना जरूरी है कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए तैयार किया गया आगरा मॉडल काफी कारगर साबित हुआ था. इस मॉडल की मदद से प्रशासन ने जिले में कोरोना की चेन को तोड़ दिया था. खुद स्वास्थ्य विभाग ने आगरा मॉडल की तारीफ करते हुए अन्य राज्यों से इस मॉडल का अनुसरण करने की अपील की थी.

राजस्थान: यहां कोरोना वायरस के अब तक 2977 मामले सामने आ चुके हैं। यहां 46 लोगों की मौत का मामला सामने आया है, वहीं 669 लोग ठीक हो चुके हैं।
पश्चिम बंगाल: बंगाल में कोरोना वायरस के अब तक 826 संक्रमित मामले सामने आए हैं, जिनमें से 20 की मौत हो चुकी है। इनमें से 109 लोग ठीक भी हो चुके हैं।
आंध्र प्रदेश: आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस के अब तक 1449 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 235 लोगों का इलाज हो गया है और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। यहां 31 की मौत भी हुई है।