बिहार में ग्रीन जोन से हटाकर ऑरेंज जोन किया गया, कर्फ्यू जैसी स्थिति!

0
449

देशभर में लॉकडाउन का तीसरा चरण आज से शुरू हो रहा है जो 17 मई तक रहेगा. इस दौरान पहले दो लॉकडाउन की तुलना में कुछ अधिक राहत के ऐलान किए गए हैं. बिहार सरकार ने अपने आदेश में कहा है कि नए-नए क्षेत्रों में कोरोनावायरस का लगातार प्रसार हो रहा है. हालांकि केंद्र द्वारा घोषित 13 ग्रीन जोन जिले बिहार में मान्य नहीं होंगे. बिहार में कोई भी जिला ग्रीन जोन में नहीं रहेगा. बिहार में सिर्फ 2 जोन होंगे, एक रेड जोन और दूसरा ऑरेंज जोन. केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने पटना सहित पांच जिलों को रेड जोन में तथा 20 जिलों को ऑरेंज व 13 जिलों को ग्रीन जोन में रखा था। केंद्र सरकार द्वारा इस संबंध में जारी गाइडलाइन्‍स में यह भी लिखा है कि राज्‍य सरकार चाहे तो अपनी जरूरतों के अनुसार इसमें परिवर्तन कर सकती है। इसी के तहत राज्‍य सरकार ने ग्रीन जोन में रखे गए जिलों को ऑरेंज जोन में शामिल कर लिया है। गाइडलाइन्‍स में कुछ अन्‍य परिवर्तन भी किए गए हैं।

बिहार की बात करेंं तो राज्‍य के पांच जिले रेड जोन में तो शेष सभी 33 जिले ऑरेंज जोन में घोषित कर दिया गया हैं। उधर, डीजीपी गुप्‍तेश्‍वर पांडेय के अनुसार राज्‍य में कर्फ्यू जैसी सख्‍ती से लॉकडाउन लागू कराया जाएगा।

लॉकडाउन को लेकर डीजीपी गुप्‍तेश्‍वर पांडेय ने कहा कि जो भी लॉकडाउन को तोड़ेगा, उसके खिलाफ पुलिस कड़ी कार्रवाई करेगी। शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक कर्फ्यू जैसी सख्ती बरती जाएगी। यहां तक कि जिन्हें पास दिए गए हैं, उन वाहनों का भी परिचालन नहीं होगा।

अब इलाका रेड जोन में हो या ऑरेंज या ग्रीन जोन में, किसी प्रकार की कोई ढ़ील नहीं दी जाएगी। जैसे- सड़क, रेल व वायु यातायात के सार्वजनिक साधनों पर जारी रहेगी। स्‍कूल-कॉलेज व कोचिंग सहित सभी शिक्षण संस्‍थान बंद रहेंगे। होटल, शॉपिंग मॉल, सिनेमा हॉल, जिम व स्‍पोर्ट्स कॉम्‍प्‍लेक्‍स आदि वैसी जगहें, जहां बड़ी संख्‍या में लोग इकट्ठा होते हैं, भी बंद रहेंगे। साथ ही गैर-जरूरी काम से शाम सात बजे से सुबह सात बजे के बीच आवागमन प्रतिबंधित रहेग।

बिहार के पांच जिले कोरोना के रेड जोन (हॉट-स्‍पॉट) में हैं, जहां लॉकडाउन का सख्‍ती से पालन होता रहेगा। ये जिले हैं- मुंगेर, पटना, रोहतास, बक्‍सर व गया। हालांकि, रेड जोन में लॉकडाउन को लेकर पूरी सख्‍ती होगी। रेड जोन में पहले के तरह अस्‍पताल खुलेंगे, सैलून व ब्‍यूटी पार्लर बंद रहेंगे

रेड जोन के जिलों में निम्‍नलिखित आवश्‍यक गतिविधियाें में छूट भी दी गई है…

  • फिजिकल डिसटेंसिंग का पालन करते हुए अस्पतालों की ओपीडी और क्लीनिक खोले जा सकेंगे।
  • बाइक पर एक तथा चारपहिया वाहन में एक साथ दो लोगों को ही जाने की अनुमति होगी।
  • शहरी क्षेत्रों में अनुमति लेकर औद्योगिक इकाइयां खोली जा सकेंगीं।
  • आवश्‍यक सामान, दवा व मेडिकल उपकरण, जूट उत्पादन व पैकेजिंग इंडस्ट्री को छूट मिलेगी। इस संबंध में जिलाधिकारी फैसला करेंगे। 
  • सप्लाई चेन से जुड़ी इकाइयाें, आइटी, कॉल सेंटर, मैनेजमेंट सर्विस व हार्डवेयर इकाइयों को भी खोला जा सकता है।
  • मालवाहक वाहनों को चलाने के लिए अलग से पास बनाने की जरूरत नहीं होगी।
  • कुरियर व डाक सेवाएं शुरू की जा सकती हैं।
  • शहरी क्षेत्रों में ई-कॉमर्स सीमित गतिविधियों को इजाजत।
  • शहरी क्षेत्रों में आवश्‍यक सामान की दुकानें खुलेंगी, लेकिन शॉपिंग मॉल तथा सैलून, ब्‍यूटी पार्लर व स्‍पा सेंटर आदि बंद रहेंगे।
  • शहरी क्षेत्रों में विशेष अनुमति लेकर भवन निर्माण संबंधी काम किया जा सकता है।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में निर्माण व फूड प्रोसेसिंग इकाइयां खोली जा सकेंगी। ईट-भट्ठे भी खोले जा सकेंगे।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि संबंधी कार्यों में भी छूट दी गई है।

ऑरेंज जोन में बिहार के शेष सभी जिले हैं। ये हैं- नालंदा, कैमूर, सिवान, गोपालगंज, भागलपुर, बेगूसराय, औरंगाबाद, मधुबनी, पूर्वी चंपारण, अरवल, सारण, नवादा, लखीसराय, बांका, वैशाली, दरभंगा, जहानाबाद, बांका, मधेपुरा, पूर्णिया हैं। इसके पहले ग्रीन जोन में शामिल शेखपुरा, अररिया, जमुई, कटिहार, खगडि़या, किशनगंज, मुजफ्फरपुर, पश्चिम चंपारण, सहरसा, समस्‍तीपुर, शिवहर, सीतामढ़ी व सुपौल को भी राज्‍य सरकार ने ऑरेंज जोन में शामिल कर लिया है।

ऑरेंज जोन के जिलो में उन सभी गतिविधियों पर प्रतिबंध रहेगा, जिनपर जोन से इतर पूरे देश में प्रतिबंध लगाया गया है। हां, इन जिलों में वे सभी छूटें मिलेंगी, जो जोन से अलग हटकर पूरे देश में या रेड जोन में मिली हुई हैं। इसके अलावा यहां एक पैसेंजर व ड्राइवर के साथ कैब चलाने की अनुमति रहेगी। गैर जरूरी वस्‍तुओं के ई-कॉमर्स करोबार को भी अनुमति मिल जाएगी। यहां औद्योगिक व निर्माण कार्य भी शुरू किए जा सकेंगे। केंद्रीय गाइडलाइन में संशोधन करते हुए राज्‍य सरकार ने ऑरेंज जोन में सैलून, ब्‍यूटी पार्लर व स्‍पा सेंटर खुला रखने का फैसला किया है।

वर्तमान में बिहार राज्‍य का एक भी जिला ग्रीन जोन में नहीं है। वैसे आप जान लें कि ऐसे जिलो में उन सभी गतिविधियों पर प्रतिबंध रहेगा, जिनपर जोन से इतर पूरे देश में प्रतिबंध लगाया गया है।