भारतीय सेना ने कहा चीनी सैनिकों ने पैंगोंग में भड़काने के लिए की हवा में फायरिंग

0
312

पूर्वी लद्दाख में नया तनाव शुरू हो गया है। चीनी सैनिकों ने हवा में फायरिंग करना शुरू कर दिया है। भारतीय जवानों ने जब उनको एलएसी के करीब आने से रोका तो चीनी सैनिकों ने फायरिंग करना शुरू कर दिया। भारतीय सेना ने एक बयान में यह बात कही।

सेना ने एक बयान में चीन के पश्चिमी कमान के एक बयान को भी गलत करार दिया, जिसमें भारत पर एलएसी को पार करने और आग लगाने का आरोप लगाया था। भारत का कहना है कि चीन ऐसा अंतरराष्ट्रीय समुदाय को भ्रमित करने की कोशिश के तहत कर रहा है।

भारतीय सेना ने चीन पर सीमा के आसपास उत्तेजक गतिविधियों के जरिए स्थिति को भड़काने का आरोप लगाया है। सेना ने अपने बयान में कहा है कि भारत एलएसी पर शांति और सौहार्द के सिद्धांत पर चल रहा है जबकि चीन उत्तेजक गतिविधियों के जरिए आग में घी डालने का काम कर रहा है

सेना ने रेखांकित किया कि किसी भी स्तर पर भारतीय सैनिकों ने एलएसी पर पारगमन नहीं किया है या गोलीबारी सहित किसी भी आक्रामक साधनों का उपयोग करने का सहारा नहीं लिया है।

सेना ने कहा, “सैन्य राजनयिक और राजनीतिक स्तर पर हुए समझौते का चीनी सेना उल्लंघन कर रही है और आक्रमक युद्धाभ्यास का माहौल बना रही है।”

बयान में कहा गया है, ” 07 सितंबर 2020 को पीएलए के सैनिक एलएसी पर हमारी एक फॉरवर्ड पोजिशन को बंद करने का प्रयास कर रहे थे और जब हमारे सैनिकों ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो पीएलए के सैनिकों ने हवा में कुछ राउंड फायर किए और हमारे सैनिकों को डराने की कोशिश की। हालांकि, गंभीर उकसावे के बावजूद हमारे सैनिकों ने बड़े संयम का इस्तेमाल किया और परिपक्व और जिम्मेदार तरीके से व्यवहार किया। ”

बयान में कहा गया है कि भारतीय सेना शांति और सौहार्द बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है, लेकिन हर कीमत पर अपनी राष्ट्रीय अखंडता और संप्रभुता की रक्षा के लिए भी दृढ़ है।