यूपी के स्कूलों की हालत देखने पहुंचे सिसोदिया यूपी पुलिस ने रोका

0
242

शिक्षा को लेकर उत्तर प्रदेश और दिल्ली के सत्तारूढ़ दलों के बीच जंग छिड़ी हुई है. इसी वजह से मनीष सिसोदिया शिक्षा पर बहस करने के लिए आज लखनऊ पहुंचे थे. वह लखनऊ के कुछ स्कूलों का हाल देखने के लिए जा रहे थे, लेकिन पुलिस ने जाने से रोक दिया और हिरासत में ले लिया. पुलिस का कहना है कि इसके लिए परमीशन नहीं ली गई थी.

पुलिस की कार्रवाई के बाद मनीष सिसोदिया ने ट्वीट के जरिए यूपी की योगी सरकार पर हमला बोला और कहा कि क्या आप मुझे लखनऊ के सरकारी स्कूल देखने जाने के आरोप में अरेस्ट करवा रहे हैं. आपने तो स्कूल देखने के लिए मुझे निमंत्रित किया था.

बता दें कि शिक्षा को लेकर उत्तर प्रदेश और दिल्ली के सत्तारूढ़ दलों के बीच जंग छिड़ी हुई है. इसी वजह से मनीष सिसोदिया शिक्षा पर बहस करने के लिए आज लखनऊ पहुंचे थे. वह लखनऊ के कुछ स्कूलों का हाल देखने के लिए जा रहे थे, लेकिन पुलिस ने जाने से रोक दिया और हिरासत में ले लिया. पुलिस का कहना है कि इसके लिए परमीशन नहीं ली गई थी.

पुलिस की कार्रवाई से खफा सिसोदिया ने कई ट्वीट कर योगी सरकार पर हमला बोला. उन्होंने ट्वीट के जरिए कहा कि क्या आप मुझे लखनऊ के सरकारी स्कूल देखने जाने के आरोप में अरेस्ट करवा रहे हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और शिक्षा मंत्री डॉक्टर सतीश द्विवेदी आपने तो मुझे इन्वाइट किया था अपने स्कूल देखने के लिए!

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा, ‘मैं आपकी चुनौती को स्वीकार करते हुए केजरीवाल मॉडल बनाम योगी मॉडल पर बहस करने लखनऊ आया था सिद्धार्थनाथ सिंह जी. लेकिन आप तो बहस से पीछे हट गए. अब मैं यूपी के शिक्षा मंत्री डॉक्टर सतीश द्विवेदी के निमंत्रण पर लखनऊ का ही एक स्कूल देखने जा रहा हूं.

इसके बाद सिसोदिया ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि शिक्षा मंत्री डॉक्टर सतीश द्विवेदी आपने तो पुलिस बल लगाकर मुझे अब स्कूल के रास्ते में रोक रहे हैं. आपने तो कहा था हमारे स्कूल देख लीजिए. लखनऊ में ही आपके स्कूलों की पोल खुलने से आप घबरा गए और पुलिस लगाकर रास्ते में ही रोक लिया.

सिसोदिया ने एक स्कूल के बाहर से ही एक वीडियो पोस्ट करते हुए कहा कि योगी जी आपके स्कूलों का सच तो मैं दिखा के रहूंगा. फिलहाल आपने पुलिस की घेराबंदी लगाकर लखनऊ के जिस स्कूल को देखने जाने से मुझे रोक रखा है उसे आप भी देख लीजिए. आपके दफ्तर से मात्र 8 किमी दूर है.