यूपी सरकार बनी मनरेगा मजदूरों के लिए राहत मंद!

0
393

कोरोना लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज सोमवार राज्यों के मनरेगा मजदूरों के लिए बड़ी मदद दी है। उन्होंने यूपी के 27.5 लाख मनरेगा मजदूरों के खाते में 611 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए है। सीएम ने लखनऊ से एक क्लिक के जरिए पैसे ट्रांसफर किए। इस दौरान सीएम योगी प्रदेश के 75 जिलों के 75 मनरेगा मजदूरों से संवाद भी कर रहे हैं। इतना ही नहीं

एक अप्रैल से मजदूरों को मिलेगा मुफ्त राशन।
उत्तर प्रदेश सरकार एक अप्रैल से दिहाड़ी मजदूरों और अन्त्योदय व पात्र गृहस्थी (खाद्य सुरक्षा) के कार्डधारकों को एकमुश्त तीन माह का अनाज देगी। इसमें दिहाड़ी मजदूरों और अन्त्योदय कार्ड धारकों को मुफ्त राशन मिलेगा। वायरस के फैलाव को रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन को देखते हुए सरकार ने दिहाड़ी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही इस तोहफे का ऐलान कर चुके हैं। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पहले प्रदेश के 20 लाख से अधिक दिहाड़ी मजदूरों को एक हजार रुपये की पहली किस्त डीबीटी के माध्यम से उनके अकाउंट में भेज चुके हैं। सीएम ने बीते मंगलवार को 5 कालीदास मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास से श्रमिक भरण-पोषण योजना की शुरुआत की थी।

आखिर कैसे बात की संवाद के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मजदूरों का हाल जाना। इसी दौरान उन्होंने मजदूरों से कहा कि आपको घबराने की कोई जरूर नहीं है। आप लोगों को तीन महीन का राशन-पानी मुफ्त में दिया जाएगा।

यूपी सरकार आखिर कैसे बात की, आइए जानते है-

सीएम योगी आदित्यनाथ प्रदेश के मनरेगा मजदूरों से उनके मोबाइल पर इंस्टाल किए गए स्काइप एप के जरिए बात कर रहे हैं। गोरखपुर के बनटांगिया राजस्व ग्राम चिलबिलवा में आयोजित कार्यक्रम में कोरोना संक्रमण के खतरे का ध्यान रखते हुए इस कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से अनुपालन किया जाएगा।