राफेल को लेकर राहुल ने नहीं बदला अपना नजरिया, सोशल मीडिया में गाली और तारीफ दोनों

0
191

  • 2019 में राहुल ने “चौकीदार चोर है” का नारा दिया था
  • कांग्रेस के कई नेताओं ने इसका विरोध किया था

नई दिल्ली।

जो लोग यह सोच रहे थे कि 2019 लोकसभा चुनाव के नतीजो के बाद राहुल गांधी राफ़ेल को लेकर अपना नज़रिया बदल सकते है ऐसा नही हुआ। 5 राफ़ेल जहाज़ भारत पहुँचने पर राहुल गांधी ने एयरफ़ोर्स को बधाई तो दी लेकिन मोदी सरकार से सवाल अभी भी पुराने ही पूछे है।

2019 की हार के 14 महिने बाद राहुल गांधी ने राफ़ेल पर रूख साफ़ कर दिया है।
सवाल वही है। 526 करोड़ का राफ़ेल 1670 करोड़ मे क्यो ख़रीदा

अनिल अम्बानी को ठेका क्यो दिया

126 जहाज़ के मुक़ाबले 36 ही क्यो ख़रीदे…

राहुल के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया में कई लोगों ने उनका मजाक उड़ाया तो कईयों ने उनका समर्थन भी किया। राहुल पर सवाल दागने वाले सोशल मीडिया पर दिखे लेकिन कोरोना वायरस के इस दौर में कई लोगों ने मोदी सरकार पर भी सवाल दागे और राहुल की तारीफ की। कई लोगों ने इस बात की तारीफ की कि लोकसभा चुनाव में हार के बाद भी राहुल गांधी ने अपना स्टैंड नहीं बदला।
वही रणदीप सुरजेवाला दिग्विजय सिंह राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत समेत कई नेताओं ने राहुल गांधी के ट्वीट समर्थन किया।

लोकसभा चुनाव के दौरान राहुल गांधी ने रफाल को लेकर मोदी सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था और “चौकीदार चोर है” का नारा देकर सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला था लेकिन राहुल गया धाम चुनावों में फ्लॉप साबित हुआ। चुनाव की हार के बाद कई नेताओं ने “चौकीदार चोर है” का विरोध किया था।