लॉकडाउन-5.0 यानी अनलॉक-1.0 कैसा है, आइए जानते है, बिहार में केंद्र का हु-ब-हु फार्मूला लागू!

0
292

कोरोना संकट के बीच देश आज से 68 दिन के लॉकडाउन के बाद नये नियमों के साथ अनलॉक हो गया. आज से पूरे देश में कहीं भी लोग आने जाने के लिए स्वतंत्र हैं. केंद्र सरकार ने 68 दिनों के लॉकडाउन के बाद चरणबद्ध तरीके से बंदिशें हटाने की घोषणा की है. 30 जून तक चलने वाले लॉकडाउन-5.0 या यूं कहें कि अनलॉक 1 के दौरान पाबंदियां सिर्फ कंटेनमेंट जोन में नजर आएंगी.

अनलॉक 1.0 का पहला चरण
अनलॉक के पहले चरण में केंद्रीय गृह मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार आठ जून से सभी धार्मिक स्थल, होटल, रेस्टोरेंट और शॉपिंग मॉल खुल सकेंगे.

अनलॉक 1.0 का दूसरा चरण
राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ विचार-विमर्श करके स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक, ट्रेनिंग और कोचिंग संस्थानों के खोले जाने पर फैसला लिया जाएगा। सभी साझेदार जिसमें बच्चों के माता-पिता भी शामिल हैं, उनके साथ वार्तालाप कर जुलाई में इस पर फैसला लिया जाएगा।

अनलॉक 1.0 का तीसरा चरण

कोरोना के संक्रमण की स्थिति को देखते हुए अंतर्राष्ट्रीय उड़ान, मेट्रो सेवा, सिनेमा हॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क को खोलने पर फैसला लिया जाएगा.
स्थिति के आकलन के बाद ही सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, अकादमिक, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्यक्रमों या फिर ज्यादा भीड़ इकट्ठी करने वाले कार्यक्रमों पर प्रतिबंध हटाने पर विचार किया जाएगा.

एक जून से रात में लगने वाले कर्फ्यू में थोड़ी राहत मिली, अब रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू लगा रहेगा.

घरेलू उड़ानें, श्रमिक ट्रेन, स्पेशल ट्रेन का संचालन जारी रहेगा.

30 जून तक कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन जारी रहेगा.

कंटेनमेंट जोन में मेडिकल इमरजेंसी और आवश्यक सेवाओं की सप्लाई जारी रहेगी.

65 साल से ज्यादा उम्र वाले बुजुर्गों को घर में रहने की सलाह.

10 साल से छोटे बच्चों, गर्भवती महिलाओं को घर में रहने का हिदायत.

देश के कुछ राज्यों अनलॉक-1 के तहत काफी कम रियायतें दी गयी हैं. किस राज्य में क्या- क्या खुला है और क्या क्या बंद है, एक नजर डाल लेते हैं:-

बिहार

बिहार सरकार ने केन्द्र की ओर से जारी दिशा-निर्देशों को बिहार में हू-ब-हू लागू करने का आदेश जारी कर दिया. लॉकडाउन 5 में नीतीश सरकार ने लोगों को बड़ी राहत देते हुए बिहार में नियमों के साथ सोमवार से राज्य के अंदर बस समेत सभी सार्वजनिक परिवहन के परिचालन की अनुमति दे दी है. कंटेनमेंट जोन को छोड़ कर बिहार के सभी जिले की सभी दुकानें, सरकारी व निजी कार्यालय तथा होटल व रेस्तरां सोमवार से पूरी तरह खुल जायेंगे. हालांकि यहां बैठ कर खाने की मनाही होगी. यह सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक खुली रह सकेंगी. नाइट कर्फ्यू लागू होगा. इस अवधि में सिर्फ मेडिकल सामग्री की दुकानें, दवा दुकानें व मेडिकल क्लिनिक ही खुल सकेंगी. पटना के बाजारों में सोमवार से रोजाना चहल-पहल दिखेगी. सभी दुकानों को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक खोलने का आदेश दिया गया है. अभी तक दुकानें शाम छह बजे तक खुलती थीं। डीएम कुमार रवि ने बताया कि रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक पटना में कर्फ्यू रहेगा. यानी बाहर निकलने पर प्रतिबंध रहेगा. सप्ताह में तीन दिन दुकान खोलने और शॉपिंग कॉम्प्लेक्स में ऑड-इवेन की अनिवार्यता समाप्त कर दी गयी है. सभी शॉपिंग कॉम्प्लेक्स की सभी दुकानें भी रोजाना खुल खुलेंगी. गृह विभाग के आदेश का अनुपालन करते हुए यह आदेश जारी किया गया है.

दवा दुकानों, क्लीनिक और अस्पताल पर समय की पाबंदी नहीं होगी। ये चौबीस घंटे खुल सकती हैं। इसके अलावा अन्य सभी प्रकार की दुकानें रात नौ बजे तक ही खुलेंगी। 

राजधानी के सभी मॉल आठ जून से खुलेंगे. दरअसल, अनलॉक 1 में मॉल भी आठ जून के बाद खोलने का निर्देश दिया गया है.

झारखंड

झारखंड में अनलॉक 1 के तहत क्या खुला रहेगा और किस चीज की मनाही होगी, इसका ऐलान अभी नहीं हुआ है. राज्य में व्यावसायिक गतिविधियों को गति देने की मांग अब हर ओर से उठने लगी है. इसलिए अब राज्य में कपड़ा सहित नन एसेंसियल उत्पादों की कई और दुकानों को खोलने की मंजूरी मिलने की उम्मीद है. राज्य सरकार शर्तों के साथ बस, ऑटो व ई रिक्शा के परिचालन की भी अनुमति दे सकती है. कोरोना संक्रमितों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए राज्य सरकार अभी राज्य में संभवत: केंद्र से मिली हर छूट न दे.

पश्चिम बंगाल

बंगाल सरकार ने लॉकडाउन 5 के दौरान राज्य में पाबंदियों से कई क्षेत्रों में छूट की घोषणा की है. इसके तहत कंटेनमेंट जोन या कैटेगरी ए इलाकों में लॉकडाउन पूरी तरह जारी रहेगा. क्लियर एरिया यानी कैटेगरी सी में सभी गतिविधियों की इजाजत होगी, वहीं बफर एरिया यानी कैटेगरी बी में भी सभी गतिविधियों की इजाजत होगी. प्रभावित इलाकों के बाहर कुछ और गतिविधियों की इजाजत होगी. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक जून से धार्मिक स्थलों को खोलने और जून के दूसरे हफ्ते से 70 फीसद कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ राज्य सरकार के कार्यालयों में कामकाज शुरू करने जैसे कई तरह की छूट देने की घोषणा की है.

महाराष्ट्र

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या देश में सबसे ज्यादा है. अनलॉक 1 के तहत इन दोनों राज्यों ने अतंरराज्यीय परिवहन को अनुमति नहीं दी है.महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि फंसे हुए प्रवासी श्रमिकों जैसे व्यक्तियों की अंतरराज्यीय और अंतर-जिला आवाजाही को जारी रखा जाएगा. महाराष्ट्र में लॉकडाउन की अवधि को 30 जून तक बढ़ाया है. महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने कहा कि चिकित्सा पेशेवरों, स्वच्छताकर्मियों और एम्बुलेंसों के लिए अंतरराज्यीय आवाजाही की अनुमति दी गई है. गैराज इलैक्ट्रीशियन और प्लंबर्स को भी काम करने की अनुमति दी गई है. वहीं 5 जून से राज्य में बाजार, दुकानें, कैब और टैक्सी को मंजूरी दी गई है. वहीं 8 जून से प्राइवेट ऑफिस 10 फीसदी स्ट्रेंथ के साथ खोले जाने हैं

राजस्थान

राजस्थान की बात करें तो राज्य सरकार ने भी अपनी गाइडलाइंस जारी कर दी हैं. अब राज्य में 1 जून से सभी पर्यटन स्थल खोल दिए जाएंगे. पहले सप्ताह तक यात्री मुफ्त में पर्यटन स्थल जा सकेंगे. तीसरे सप्ताह में आधा पैसा देकर पर्यटन स्थल जा सकेंगे.

तमिलनाडु

तमिलनाडु में भी कोरोना का विस्फोट है. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई. पलानीस्वामी ने कहा कि अनलॉक 1 के तहत अंतरराज्यीय बस परिवहन, मेट्रो और सबअर्बन ट्रेन सेवाओं पर प्रतिबंध जारी रहेगा. उन्होंने कहा कि अंतर-क्षेत्र और अंतरराज्यीय यात्रा के लिए ई-पास जरूरी होगा. 40 फीसदी स्टाफ के साथ काम करने की अनुमति है. सभी नॉन-एसी रेस्टोरेंट को 50 प्रतिशत ताकत के साथ खाना उपलब्ध कराने की सुविधा दी गई है. चेन्नई के बाहर के उद्योग और निजी उद्यम, जैसे आईटी कंपनियां 100 फीसदी कर्मचारियों के साथ कार्य कर सकेंगी. शहरी क्षेत्र के भीतर, आईटी कंपनियों को कार्यालय में केवल 20 प्रतिशत कर्मचारी रखने की अनुमति है.

गुजरात

गुजरात सरकार ने अपने यहां नई गाइडलाइंस जारी कर दी हैं, जिसके मुताबिक गुजरात में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू रहेगा. सभी दुकानें शाम 7 बजे तक खुली रहेंगी. इसके अलावा गुजरात राज्य परिवहन की बसें सभी जिलों में चलेंगी. सभी सरकारी ऑफिस सोमवार से खुल जाएंगे. हालांकि नई गाइडलाइंस के मुताबिक होटल, रेस्त्रां, धार्मिक स्थल केंद्र के नियमों के आधार पर खुलेंगे.

छत्तीसगढ़

राज्य सरकार अंतर-जिला और अंतर-राज्यीय यात्रा केवल ई-पास धारकों के लिए अनुमति देगी. राज्य 7 जून तक सभी खेल परिसर, स्टेडियम और सार्वजनिक पार्क भी बंद रखेगा.

पंजाब

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी केंद्र के दिशा-निर्देश के अनुसार लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ा दिया है. खाद्य विभाग को राशन किट में मास्क भी शामिल करने को कहा.

मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश सरकार लॉकडाउन 15 जून तक बढ़ाने के पक्ष में है और कंटेनमेंट क्षेत्रों में कोई रियायत देने का इरादा नहीं रखती है. हालांकि ग्रीन जोन में कुछ और राहत देने पर विचार किया जा रहा है. अभी सरकार स्कूलों को भी 13 जून के बाद खोलने के पक्ष में है, लेकिन संक्रमण की स्थिति कुछ दिन और देखने के बाद अंतिम निर्णय लिया जाएगा.

पूर्वोत्तर राज्यों

पूर्वोत्तर राज्यों में मेघालय ने लॉकडाउन की अवधि को छह जून तक बढ़ा दिया है और वाहनों की अंतर-जिला और अंतरराज्यीय आवाजाही पर प्रतिबंध जारी रखा है. मिजोरम सरकार ने भी कहा कि यात्रियों को ले जाने वाले वाहनों की सभी अंतरराज्यीय या सीमा-पार आवाजाही प्रतिबंधित रहेंगी. मेघालय में कोरोना वायरस के 27 जबकि मिजोरम में एक मामला सामने आया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here