संसद के बजट सत्र पर भी किसान आंदोलन की छाया पड़ेगी, राष्ट्रपति देंगे अंदर भाषण विपक्ष बाहर करेगा धरना प्रदर्शन, पीएम मोदी ने की शांति की अपील

0
124

आज संसद भवन में राष्ट्रपति बजट सत्र पर अपना अभिभाषण देंगे लेकिन विपक्ष ने इसका बहिष्कार करने का फैसला किया है।

माना जा रहा है कि राष्ट्रपति संसद भवन के अंदर जब भाषण देंगे तब विपक्ष भवन के बाहर सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन करेगा। कांग्रेस समेत 19 पार्टियों ने इस बहिष्कार का समर्थन करने का फैसला लिया है इन पार्टियों का कहना है कि सरकार किसानों के साथ अन्याय कर रही है और उनको मारने पीटने का काम किया जा रहा है। इसे वह बर्दाश्त नहीं कर सकती। विपक्ष ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग भी सरकार से की है।

1 फरवरी को सरकार का आम बजट पेश होगा इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज संसद भवन में पहुंचते हुए कहा कि संसद का यह सत्र इस दशक का पहला संसद सत्र है। उन्होंने कहा कि 2020 में सरकार को कई मिलनी बजट पेश करने पड़े और उसी कड़ी में 1 फरवरी को पेश होने वाला आम बजट आएगा। उन्होंने विपक्ष से इस बजट को शांतिपूर्वक चलाने के लिए सहयोग मांगा।

कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि सरकार किसानों की आवाज दबा रही है इसलिए जब तक किसी कानून को वापस नहीं लिया जाएगा वह सरकार का सहयोग नहीं करेगी। वही संसद के राष्ट्रपति अभिभाषण का बहिष्कार करने वाले दलों की संख्या 19 हो गई है। बहुजन समाज पार्टी की मायावती ने भी आज सुबह-सुबह राष्ट्रपति के अभिभाषण को से दूर रहने का फैसला किया। उन्होंने भी किसी कानूनों को वापस लेने की सरकार से मांग की।