1 सितंबर से अनलॉक चार, जाने क्या खुलेगा क्या नहीं

0
231

अब 1 सितंबर से अनलॉक चार लगने वाला है और इससे पहले गृह मंत्रालय जल्द ही अनलॉक 4 को लेकर नए दिशा निर्देश जारी करेगा।

सूत्रों का कहना है कि विभिन्न राज्यों में मेट्रो ट्रेन के ऑपरेशन को मंजूरी मिल सकती है, लेकिन स्कूल, सिनेमा हॉल और स्विमिंग पूल और शराब के बार को मंजूरी मिलना मुश्किल है। दिल्ली मेट्रो ट्रेन 15 सितंबर से पहले चल सकती है।

अनलॉक 4 के तहत राज्यों को अपनी अपनी स्थितियों के अनुसार फैसला लेने का अधिकार होगा, अगर कोई राज्य सरकार मानती है कि मेट्रो ट्रेन चलाने से उसके यहां कोविड-19 के संक्रमण के मामले बढ़ सकते हैं तो वह इसे टाल भी सकती है।

मेट्रो के परिचालन से आर्थिक गतिविधियों को मिलेगा बढ़ावा

गृह मंत्रालय के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार कोरोना के कारण देश की बंद अर्थव्यवस्था को चरणबद्ध तरीके से खोलने के तहत इस बार मेट्रो सेवाओं के परिचालन की अनुमति दी जा सकती है। मेट्रो के परिचालन की अनुमति मिलने से शहरी क्षेत्रों में लोगों की आवाजाही में आसानी होगी, जिससे आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। मार्च महीने में पूरे देश में लॉकडाउन के दौरान मेट्रो को बंद कर दिया गया था, जो अभी तक शुरू नहीं हो पाई है। पिछले दिनों दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से चरणबद्ध तरीके मेट्रो के परिचालन की अनुमति देने का अनुरोध किया था।

स्कूल और कॉलेज को खोलने की अनुमति नहीं मिलेगी

वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार फिलहाल स्कूल और कॉलेज को खोलने की अनुमति नहीं दी जाएगा। वहीं आइआइटी, आइएमएम और विश्वविद्यालय जैसे उच्चतर शैक्षिक संस्थानों को खोलने की अनुमति देने पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है, लेकिन अभी तक इस पर अंतिम फैसला नहीं हुआ है।

सिनेमा हॉल को खोलने की अनुमति नहीं मिलेगी

उन्होंने सिनेमा हॉल को खोलने की अनुमति देने की संभावना से भी इन्कार कर दिया। उनके अनुसार कोरोना के गाइडलाइंस का पालन करते हुए सिनेमा हॉल को खोलना फिल्म निर्माताओं और हॉल मालिकों के लिए आर्थिक तौर पर व्यवहारिक नहीं होगा।

अनलॉक-चार के गाइडलाइंस में उन क्षेत्रों का जिक्र होगा जो प्रतिबंधित रहेंगी

वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार इसी हफ्ते जारी होने वाली अनलॉक-चार के गाइडलाइंस में किन-किन क्षेत्रों को खोला जा रहा है का जिक्र नहीं होगा। इसके बजाय सिर्फ उन क्षेत्रों का जिक्र होगा, जो प्रतिबंधित रहेंगी। प्रतिबंधित क्षेत्रों के अलावा सभी क्षेत्रों को खुला माना जाएगा।