क्या नटराजन और शार्दूल ठाकुर को टेस्ट टीम में नहीं दी जानी चाहिए जगह ?

0
256

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टी 20 मैच सीरीज खत्म हो गई है।

इससे पहले वनडे श्रृंखला भी खत्म हो गई है।

दोनों श्रृंखलाओं में जिन खिलाड़ियों ने सबका ध्यान खींचा है वह तमिलनाडु के तेज गेंदबाज टी नटराजन और मुंबई से खेलने वाले हरफनमौला शार्दुल ठाकुर।

इन दोनों खिलाड़ियों को जब जब मौका मिला। उन्हें खुद को साबित किया है।

सबसे ज्यादा टी नटराजन ने उम्दा प्रदर्शन किया है। उन्होंने अपनी योर्कर गेंद से ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों को परेशान कर दिया।

जहां ऑस्ट्रेलिया के अंदर बल्लेबाज भारत के कई बड़े गेंदबाजों के छक्के उड़ा रहे थे तो दूसरे छोर पर नटराजन ने ऑस्ट्रेलिया बल्लेबाजों की एक न चलने दी।

दूसरी तरफ ठाकुर के प्रदर्शन को भी भुलाया नहीं जा सकता।

जिस तरह से ठाकुर को अंतिम समय में मौका मिला क्योंकि हरफनमौला रवींद्र जडेजा पहले टी20 मैच के दौरान बल्लेबाजी करते समय चोटिल हो गए थे।

उसके बाद ठाकुर को टी-20 में खिलाने का निर्णय लिया गया।

ठाकुर ने टी 20 के दोनों मैचों में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया।

आखिरी मैच में तो उन्होंने बल्लेबाजी में भी अपना हुनर दिखाया और दो छक्के और चौके लगाए उस मैच में कमेंट्री दे रहे पूर्व खिलाड़ियों ने माना कि शार्दूल ठाकुर को कुछ और ज्यादा गेंदे खेलने को मिल जाती तो शायद वह स्कोर टारगेट पहुंचा सकते थे।

इन दोनों खिलाड़ियों के अच्छे खेल की बाते इसलिए की जा रही है क्योंकि दिसंबर से शुरू होने वाले सीरीज में इन दोनों खिलाड़ियों को जगह नहीं मिल पाई है।

चयनकर्ता और बीसीसीआई को देखना चाहिए कि इन खिलाड़ियों को जब भी मौका मिला उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है और वह ऑस्ट्रेलिया के माहौल और मौसम से भलीभांति परिचित हो गए हैं इसलिए इन दोनों खिलाड़ियों को टेस्ट मैच में जरूर स्थान देना चाहिए और जिस तरह से उन्होंने वनडे और टी-20 में प्रदर्शन दिखाया उससे उम्मीद है कि यह टेस्ट मैच में भी अपना बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे।

रविन्द्र जडेजा चोटिल हो गए हैं वे टेस्ट मैच की भारतीय टीम में भी शामिल थे उनकी जगह इन दोनों खिलाड़ियों में से एक को जगह मिल सकती है।